SPG Full Form Kya Hoti Hai – भारत में VIPs की सुरक्षा श्रेणी Z+, Z , Y, X क्या है?

Share it

SPG Full Form-भारत में बहुत से  मंत्रियो , कुछ विशेष व्यक्तियों (VIPs  ), फिल्म अभिनेता , स्पोर्ट्स मेन आदि   को सुरक्षा मुहया करवाई जाती है | किस व्यक्ति को कितना  खतरा है इसकी जाँच  करके सुरक्षा मुहैया करवाई जाती है |

यह सुरक्षा  केंद्रीय गृह मंत्रालय , पुलिस प्रशाशन और स्थानीय सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई जाती है |

VIPs  की सुरक्षा श्रेणी मनको को यलोबुक के अनुसार निर्धारित किया जाता  है|
आइये जानते है की ये सुरक्षा कितनी तरह की होती है और किस व्यक्ति को कोनसी सुरक्षा मिलती है |

SPG Full Form
SPG Full Form

How many types of security are there in India- भारत में VIPs को कितनी तरह की सुरक्षा उपलब्ध करवाई जाती है –

भारत में  विशेष व्यक्तियों को 4 तरह की सुरक्षा उपलब्ध करवाई जाती है  सुरक्ष अलग – अलग श्रेणी की है  |

यह सुरक्षा  खुफिया विभाग दवारा व्यक्ति विशेष और जोखिम के देखकर निर्धारित की जाती है |  ये  सुरक्षा निम्न निम्न प्रकार से  है –

  1. Z+
  2. Z
  3. Y
  4. X

निम्नलिखित  सुरक्षा एजेंसियों दवारा  VIPs को अलग अलग श्रेणी की  सुरक्षा उपलब्ध करवाती है –

SPG Full Form Kya Hoti Hai-विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी)

SPG  Full  Form is Special Protection Group

एसपीजी का गठन 8 अप्रैल 1985, को किया गया था ये सुरक्षा समूह  भारत के प्रधानमत्री की सुरक्षा करता है |

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी)/National Security Guard (NSG) –

Z+ Category  की सुरक्षा एसपीजी कमांडो दवारा की जाती है | ये आतंकवादी सुरक्षा इकाई है इन्हे ब्लैक कैट भी कहा जाता है | NSG का गठन 22 सितम्बर 1986 को किया गया था |

NSG कमांडो  के पास हेकलर और कोच  एमपी 5 सब मशीन गन्स होती है और सभी आधुनिक हथियार  एवं उपकरण होते है |

सभी कमांडो मार्शल आर्ट में माहिर होते है और निहत्ते लड़ने भी बहुत कुशल होते है |

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी)/ITBP-

24 अक्टूबर  1962 को इसका गठन किया गया था | यह भारत के केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में से एक है |

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ)/CRPF-

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल  भारत का  सबसे बड़ा  अर्धसैनिक  बल है  CRPF राज्य / संघ  शाषित प्रदेशो में  कानून व्यवस्था , संविधान की सर्वोच्चता को कायम रखने के द्वारा सरकार को राष्ट्रीय अखंडता बनाए रखने और सामाजिक समानता  और विकास को बढ़ावा देने के लिए कानून, लोक व्यवस्था और आंतरिक सुरक्षा के नियम को प्रभावी ढंग से और कुशलतापूर्वक बनाए रखने में मदद करता है |

भारत के प्रधानमंत्री की सुरक्षा श्रेणी –

भारत के प्रधानमंत्री को  एसपीजी/विशेष सुरक्षा समूह कवरेज की सुरक्षा श्रेणी उपलब्ध करवाई जाती है |

राष्ट्रपति की सुरक्षा श्रेणी –

भारत के राष्ट्रपति की सुरक्षा भारतीय सेना के एक कुलीन घरेलू घुड़सवार रेजिमेंट दवारा की जाती है |  इन्हे राष्ट्रपति का अंगरक्षक कहा भी जाता है।

विशेष व्यक्ति सुरक्षा  / Individual securities-

कोई ऐसा व्यक्ति जिसको कोई धमकी मिली है  या जान का जोखिम है वो स्थानीय पुलिस को सूचित करके सुरक्षा की मांग कर सकता है |पुलिस इसकी जाँच करती है और सुरक्षा एजेंसियों को सूचित किया जाता है |

सुरक्षा एजेंसिया पुरे मामले की जाँच करते है  जब खतरे की पुष्टि हो जाती है, तब  गृह सचिव, महानिदेशक और राज्य में मुख्य सचिव सहित एक समिति यह तय करती है कि उस व्यक्ति को किस श्रेणी की सुरक्षा दी जानी है।

इसके बाद, औपचारिक स्वीकृति के लिए व्यक्ति का विवरण केंद्रीय गृह मंत्रालय को भी दिया जाता है और उन्हें अगर लगता है की उपरोक्त व्यक्ति को  वाकई जान  का खतरा है  तो उस व्यक्ति को  ये स्पेशल सुरक्षा दी जाती है |

Y+  Category- Y+ श्रेणी की सुरक्षा –

 यह सुरक्षा केंद्रीय गृह मंत्रालय दवारा दी जाने वाले तीसरे नंबर की सुरक्षा श्रेणी है |

यह  सुरक्षा   कुछ  ऐसे  Individual को दी जाती है जिनको  बहुत खतरा होता है |

Y + श्रेणी की सुरक्षा CRPF दवारा की जाती है | इस सुरक्षा श्रेणी  में कुल 11 पुलिस पर्सनल  होते है |

जिनमे  एक  या  2  कमांडो और दो पर्सनल सिक्योरिटी अफसर भी  रहते  है |

ये अलग अलग  3 शिफ्ट में  सुरक्षा करते है |

 

Leave a Comment